बिहार का इतिहास (Prachin, Deatails, Modern PDF) | Bihar History Hindi

Bihar History Hindi Prachin, Deatails, Modern PDF, Bihar historical place, Bihar rajya Rajdhani, बिहार का इतिहास क्या है क्षेत्रफल अर्थ, GK Bihari state population itihas meaning  

भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है भारत में कुल मिलाकर 29 राज्य हैं और सभी की भौगोलिक स्थिति और पहचान भी काफी अलग-अलग है ।

ऐसे में बिहार भारत के महत्वपूर्ण राज्यों में से एक है भारत के नक्शे पर बिहार की एक अलग ही जगह है और यहां के रहने वाले लोगों के रहन-सहन और भौगोलिक स्थिति भी दूसरे राज्य के मुकाबले काफी अलग है ।

आज के इस पोस्ट में बिहार का इतिहास के बारे में संपूर्ण जानकारी आपको देने वाले हैं।

आप क्या Bihar history Detail के बारे में जानते हैं कि बिहार की स्थापना कब हुई थी? बिहार में कितने जिले हैं? बिहार में घूमने लायक पर्यटक स्थल कौन से हैं? प्रमुख विश्वविद्यालय कौन है? बिहार की राजधानी क्या है? प्रमुख धार्मिक स्थल कौन से हैं? अगर आप कुछ भी नहीं जानते हैं तो मैं आपसे अनुरोध करूंगा कि इस पोस्ट को आखिर तक पढ़े-

Table of Contents

बिहार का इतिहास (About Bihar Details In Hindi Meaning, Population)

राज्य का नामबिहार (Bihar)
बिहार की राजधानी (Bihar Ki Rajdhani)पटना (Patna)
वर्तमान मुख्यमंत्री (Chief Minister )नितीश कुमार (Nitish Kumar)
राज्यपाल (Rajyapal)Phagu Chauhan (2019 से)
प्रमुख भाषाहिंदी, भोजपुरी, मैथिली, उर्दू,मगही, अंगिका
क्षेत्रफल की दृष्टी से राज्य का देश में स्थान12th
जनसंख्या के अनुसार राज्य का देश में स्थान3rd
स्थापना22 मार्च 1912
राज्य अंतर्गत कुल जिलों की संख्या (Kul Jilo  Ki Sankhya)38
राज्य के अंतर्गत कुल तालुका तहसील533
कुल ग्रामीण विभाग45103
राज्य का प्रमुख फूल (State Flower Of Bihar)कचनार (वनस्पती विज्ञानं अनुसार नाम बहुहिनिया वेरिएगाटा)
प्रमुख फल (State Fruit of Bihar)आम
प्रमुख पेड़ (State Tree of Bihar)पीपल वृक्ष
प्रमुख पक्षी (State Birds of Bihar)सामान्य चिड़ियाँ 
राज्य का प्रमुख जानवर (State Animal of Bihar)गौर (भारतीय नस्ल का सांड) 
राज्य का प्रमुख खेलक्रिकेट (Cricket) 
क्षेत्रफल में राज्य का सबसे बड़ा जिलापश्चिमी चंपारण  
क्षेत्रफल में राज्य का सबसे छोटा जिलाशिवहर (Shivhar) 
जनसंख्या के आधार पर सबसे बड़ा जिलापटना (Patna) 
बिहार के शोक के नाम से प्रचलित नदीकोसी नदी 
बिहार का सबसे लंबा पुलमहात्मा गांधी सेतु 
बिहार का सबसे बड़ा हवाई अड्डाजयप्रकाश नारायण हवाई अड्डा अब्दुल बारी पुल, कोइलवर 

बिहार का इतिहास किस काल में कैसा रहा (Bihar Ka। tihas)

बिहार के इतिहास को हम मुख्य तौर पर तीन प्रकार के काल में विभाजित कर कर समझ सकते हैं इनके बारे में मैं आपको नीचे हिंदू अनुसार जानकारी दूंगा आइए जाने-

प्राचीन बिहार का इतिहास (Prachin Bihar ka Itihas)

Bihar में प्राचीन काल पर बिहार पर चंद्रगुप्त मौर्य अशोक जैसे महान शासकों ने बिहार पर राज किया और बिहार के उत्थान के लिए उन्होंने कई महत्वपूर्ण कार्य किए इसके अलावा प्रमुख राजनीतिक शास्त्र के पितामह चाणक्य का जन्म बिहार में वर्षा इस प्रकार हम कह सकते हैं कि बिहार राजनीतिक दृष्टि से भी एक महत्वपूर्ण राज्य भारत का था ।

हेनसांग फाहियान मेगस्थनीज जैसे विदेशी यात्री ने भी प्राचीन काल में बिहार का दौरा दौरा किया और बाद में उन्होंने बिहार के बारे में अपने किताबों में वर्णन भी किया है।

बौद्ध धर्म का प्रचार प्रसार बिहार के द्वारा ही हुआ था  को महात्मा बुद्ध को भी ज्ञान की प्राप्ति बिहार के बोधगया में हुई थी प्राचीन काल में बिहार का नाम मगध था ।

बिहार का मध्यकालीन इतिहास

बिहार का मध्यकालीन इतिहास काफी दागदार और आक्रमणकारियों से भरा था इस समय Bihar में कई भारी विदेशी ताकतों ने आक्रमण किए।

मोहम्मद बख्तियार खिलजी नामक विदेशी शासक ने नालंदा विश्वविद्यालय की इमारत को बर्बाद कर दिया सी शासक के नाम पर बिहार में बख्तियारपुर नाम का स्थान भी है। इसके अलावा इस काल में बिहार पर आने को वंश के शासकों ने राज्य किया जिनका विवरण में आपको नीचे बिंदु अनुसार अनुसार दे रहा हूं –

पाल वंश
बौद्ध विहार वंश
ममलुक वंश
बलवन
तुगलक वंश
चेरो राजवंश
 नूहनी राजवंश
खिलजी वंश
मुगल वंश
शेरशाह सूरी
अफगान साम्राज्य

बिहार का आधुनिक इतिहास (Modern Bihar ka Itihas)

Bihar का आधुनिक इतिहास का आरंभिक काल 1707 से आरंभ होता है जब की मृत्यु हो गई तो राजकुमार अजीम – ए शान बिहार का बादशाह बनता है इसके अलावा भारत के प्रथम स्वतंत्रा संग्राम 1857 की क्रांति में भी बिहार की एक अहम भूमिका रही है इसी कालखंड में बिहार में इस्लाम और सिख धर्म का जोरों शोरों से प्रचार और प्रसार भी धार्मिक गुरुओं के द्वारा किया गया था।

सिक्खों के गुरु नानक देव ने इसी कालखंड में बिहार के राजगीर पटना  मुंगेर भागलपुर जैसे महत्वपूर्ण स्थान में सिख धर्म का प्रचार और प्रसार किया था। सिख धर्म के दसवें गुरु गोविंद सिंह का जन्म बिहार के पटना में हुआ था ।

बिहार के इसी कालचक्र में सूफी संतों का बिहार में आगमन हुआ और उन्होंने यहां पर इस्लाम धर्म का जोर शोर से प्रचार और प्रसार किया। बिहार शरीफ में मशहूर सूफी संत मोहिदीन चिश्ती का दरगाह भी है जिसका दर्शन करने के लिए दूरदराज से लोग यहां पर आते हैं।  

बिहार में अंग्रेजो पुर्तगाली डच व्यापारियों का आगमन भी इसी कालचक्र में हुआ था और उन्होंने बिहार में कई जगह पर व्यापारिक केंद्र भी स्थापित किए थे जहां से व्यापार की गतिविधियां दूसरे देशों के साथ आसानी से यूरोपीय व्यापारियों के द्वारा होने लगा था। बिहार के आधुनिक इतिहास में कई प्रकार के विद्रोह अंग्रेजों के  खिलाफ किए गए थे उन सभी प्रकार के विद्रोह के बारे में मैं आपको नीचे विस्तार अनुसार जानकारी दूंगा-

बहावी विद्रोह
नोनिया विद्रोह
लोटा विद्रोह
छोटानागपुर विद्रोह
तमाड़ विद्रोह
कोल विद्रोह
हो विद्रोह
भूमिज विद्रोह
चेर विद्रोह
संथाल विद्रोह

बिहार के प्रमुख महान व्यक्ति के नाम (Famous People In Bihar)

बिहार भारत का सबसे प्रमुख और प्रसिद्ध राज्यों में से एक है यहां के लोग हर क्षेत्र में आगे आते हुए देखने को मिलता है और भारत के इतिहास में बिहार के लोगों का काफी ज्यादा योगदान रहा है इसीलिए यहां के लोग एक से बढ़कर एक महान उपलब्धि हासिल की है जिनके नाम कुछ इस प्रकार है-

शोक
आर्यभट
गुरु गोबिन्द सिंह
गोनु झा
चन्द्रगुप्त मौर्य
चाणक्य
महावीर
वात्स्यायन
जयप्रकाश नारायण
विनोदा भावे
डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद
कर्पूरी ठाकुर
बाबू जगजीवन राम

बिहार के महान स्वतंत्रता सेनानियों के नाम (Bihar Freedom Fighters Name)

भारत देश लगभग 200 वर्षों से ज्यादा तक अंग्रेजों का गुलाम रहा है हमें अंग्रेजों की बात ही सुननी पड़ती थी आज भारत को आजाद हुए कई वर्ष बीत गए हैं जिसमें बिहार के लोगों का भारत को आजादी दिलाने में काफी ज्यादा योगदान रहा है इसमें से कुछ स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के नाम इस प्रकार है

कुवर सिंह
बसावन सिंह
राजेन्द्र प्रसाद
राजकुमार शुक्ल
रमेश चन्द्र झा
स्वामी सहजानन्द सरस्वती
श्रीकृष्ण सिन्हा
अनुग्रह नारायण सिंह
उमाशंकर प्रसाद

बिहार के प्रमुख शिक्षण संस्थान और ऐतिहासिक विश्वविद्यालय (Bihar Famous College/University)

बिहार की शिक्षा और सरकारी नौकरी को लेकर काफी ज्यादा प्रसिद्ध है इसीलिए यहां सबसे पहली प्राथमिकता नौकरी को दी जाती है।

इसीलिए यहां के लोग सबसे पहले पढ़ाई पर ध्यान देते हैं जिसके चलते यहां बड़े-बड़े विश्वविद्यालय देखे जाते हैं जिसमें से सबसे पुराना विश्वविद्यालय नालंदा विश्वविद्यालय है जो पूरा विश्व में प्रसिद्ध है तो यहां कुछ प्रसिद्ध है बिहार के विश्वविद्यालय के नाम देख सकते हैं।

नालंदा विश्वविद्यालय
विक्रमशिला विश्वविद्यालय
वर्जासन विश्वविद्यालय
ओदन्तपुरी विश्वविद्यालय
जय प्रकाश विश्वविद्यालय,
कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय,
ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय,
मगध विश्वविद्यालय,
मौलाना मज़हरूल हक अरबी फ़ारसी विश्वविद्यालय,
नालंदा मुक् विश्वविद्यालय,
पटना विश्वविद्यालय,
राजेन्द्र कृषि विश्‍‍वविद्यालय,
तिलक मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय,
वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय
बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर बिहार विश्वविद्यालय,
भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय,
बिहार योग भारती (मानद विश्वविद्यालय),
बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय,
चाणक्य राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय
बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय पटना
तिलक झांसी विश्वविद्यालय

बिहार के प्रमुख पर्यटन स्थल (Bihar Historical Place)

अगर आपको कभी भी Bihar जाना हो या फिर यहां जाने का मन हो तो आप यह पर्यटन स्थल जरूर जान ले क्योंकि हम कभी ना कभी भारत के हर क्षेत्र में जाते ही रहते हैं तो ऐसे में बिहार के पर्यटन स्थल को जानना बहुत जरूरी है ।

इसमें सबसे बड़ा पर्यटन स्थल तो नालंदा विश्वविद्यालय है जो पूरे विश्व में सबसे ज्यादा प्रसिद्ध विश्वविद्यालय है इसके अलावा सीतामढ़ी आप जा सकते हैं तो नीचे कुछ आपको लिस्ट दिया हुआ है जो बिहार के प्रमुख पर्यटन स्थल में से एक है।

  • नालंदा विश्वविद्यालय
  • पटना बिहार के राजधानी है यहां पर घूमने लाइक प्रमुख पर्यटक स्थल इस प्रकार है- ( श्री पटना साहिब, गुरुद्वारा पहिला बड़ा, गुरुद्वारा गोबिंद घाट, गुरुद्वारा गुरु का बाग, गुरुद्वारा बाल लीला, पटना संग्रहालय, किला हाउस
  • बिहार का बोधगया
  • बिहार का वैशाली बौद्ध धर्म के अंतिम धर्म प्रवर्तक महावीर जैन का जन्म इसी जिला में हुआ था।  
  • राजगिरी
  • शेरशाह सूरी का मकबरा
  • बिहार का नौलखा पैलेस राजनगर
  • सीतामढ़ी – माता सीता का जन्म यहीं हुआ था।  
  • सोनपुर जहां पर एशिया का सबसे बड़ा पशुओं का मेला लगता है।  

बिहार के प्रमुख धार्मिक स्थल (Dharmik Sthal)

बिहार राज्य में सबसे ज्यादा हिंदू लोग निवास करते हैं यह हिंदू राज्यों में से एक है तो इसीलिए यहां काफी ज्यादा धार्मिक लोग भी रहते हैं और यहां पर धार्मिक रहन सहन और बहुत पुराने मंदिर भी देखने को मिलते हैं जिसमें से कुछ प्रमुख धार्मिक स्थल इस प्रकार है-

विष्णु पद मंदिर
तखत श्री हरिमंदिर जी पटना साहिब
हनुमान मंदिर
महाबोधि गया
बिहार शरीफ
भवनाथ मंदिर (सीवान)
अरण्य देवी मंदिर [आरा]
गढ़देवी मा [माधौड़ा, सारण]
अंबिका भवानी [आमी, सरन]
सीतामढ़ी में जानकी मंदिर
गुरु गोविंद घाट

बिहार के लोगों का परंपरिक वेशभूषा क्या है (Veshbhusha In Hindi)

बिहार के पुरुष धोती कुर्ता और महिलाएं साड़ी पहनती हैं। चलते वक्त के साथ बिहार के वेशभूषा के अलावा यहां के पुरुष शर्ट पैंट और महिलाएं सलवार कमीज पहने लगी हैं।  यह बदलाव अब आते ही जा रहा है और लोग अब जींस भी पहनने लगे है ।

बिहार के लोगों का मुख्य भोजन क्या है (Pramukh Bhojan)

बिहार की प्रमुख Bhojan की बात करें तो यहां लिट्टी चोखा सबसे प्रमुख भोजन है वैसे बिहार के लोगों की बात करें तो यहां के लोग सबसे ज्यादा बाहर के राज्यों में देखे जाते हैं क्योंकि भारत के पूरे शहर में कहीं ना कहीं आपको बिहार के व्यक्ति देखने को मिल जाएगा ।

इसीलिए इनके खानपान में सबसे ज्यादा रोटी, चावल उसके बाद कई लोग चिकन में बिहारी कबाब, चिकन मसाला, मक्के की रोटी यह सब इनके प्रमुख भोजन में से एक है।

बिहार के प्रमुख त्यौहार (Bihar Famous Festival)

Bihar rajya के लोग ज्यादातर हिंदू पर्व मनाते हैं और यहां सबसे ज्यादा हिंदू धर्म के लोग ही निवास करते हैं तो इसीलिए यहां सबसे ज्यादा हिंदू Festival ही देखे जाते हैं ।

जिसमें से बिहार का सबसे प्रसिद्ध पर्व छठ पूजा है जो हर वर्ष दिवाली के कुछ समय बाद मनाया जाता है इस पर्व में लोगों में काफी ज्यादा उत्साह और इंतजार देखा जाता है और यह त्यौहार लोग मनाने से चूकते नहीं है इसके अलावा और भी पर्व है जो बिहार में मनाया जाता है।

छठ पूजा
मकर सक्रांति
सरस्वती पूजा
महाशिवरात्रि
होली
 रामनवमी
 महावीर जयंती
 बुद्ध जयंती

बिहार के प्रमुख पुस्तकालय और संग्रहालय

पुस्तकालय:

गोपाल नायक पुस्तकालय, पटना    
श्री हिंदी पुस्तकालय, सोहसराय नालंदा       
महंत रामाश्रय दास पुस्तकालय, समस्तीपुर   
ज्ञान केंद्र पुस्तकालय, सीतामढ़ी
प्रभावती महिला पुस्तकालय

संग्रहालय

बोधगया पुरातत्व संग्रहालय
वैशाली पुरातत्व संग्रहालय
भारतीय नृत्य कला मंदिर
बिहारशरीफ संग्रहालय
दीवान बहादुर राधा कृष्ण जालान संग्रहालय

बिहार का प्रमुख मेला

सोनपुर का मेला
मुजफ्फरपुर का मेला
पितृपक्ष मेला
मंदार मेला
सिंहेश्वर स्थान का मेला
मकर मेला
मलमास मेला

प्रमुख भाषाएं कौनकौन सी हैं (bihar ki bhasha kya hai)

bihari लोगो की प्रमुख भाषाओं की बात करें तो यहां भोजपुरी भाषा सबसे ज्यादा बोली जाती है और मैंने पहले ही बताया था यहां के लोग भारत के हर क्षेत्र में देखे जाते हैं इसीलिए यहां के लोगों को भारत के लगभग सभी भाषाओं की थोड़ी बहुत जानकारी होती ही है ।

तो यहां के लोग सबसे ज्यादा भोजपुरी और हिंदी भाषा का उपयोग करते हैं इसके अलावा कुछ कुछ क्षेत्रों में लगभग बहुत सारे भाषाओं का उपयोग होता है जो इस प्रकार है-

  • भोजपुरी भाषा (बक्सर, सारण, सिवान, गोपालगंज, पूर्वी चम्पारण, पश्चिम चम्पारण, वैशाली, भोजपुर, रोहतास, बक्सर, भभुआ जैसी जगहों पर रहने वाले लोग इस प्रकार की भाषा बोलते हैंI
  • मैथिली भाषा (दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, सहरसा, मधेपुरा, सुपौल, अररिया,सीतामढ़ी और पूर्णिया
  • मगही भाषा (पटना, गया, औरंगाबाद, नवादा, जहानाबाद और अरवल)
  • अंगिका भाषा – ( भागलपुर,जमुई, लखीसराय, मुंगेर, बेगूसराय और खगड़िया)
  • वज्जिका भाषा ( मुजफ्फरपुर जिले में मुख्य रूप से बोली जाती है)
  • उर्दू मिश्रित हिंदी( सीमांचल और किशनगंज जिले में)

बिहार के प्रमुख हवाई अड्डे-

बिहार के लोगों के लिए यहां बहुत सारे यात्राओं के साधन देखे जाते हैं जिसमें से यहां के लोग ट्रेन में ही सबसे ज्यादा सफर करते हैं लेकिन यहां के लोग भारत के हर क्षेत्र में देखे जाते हैं इसीलिए यहां पर यात्राएं काफी ज्यादा की जाती है तो इसके लिए यहां कुछ हवाई अड्डे भी है जिसमें से प्रमुख हवाई अड्डों के नाम इस प्रकार है-

गया हवाई अड्डा
जय प्रकाश नारायण एयरपोर्ट, पटना
दरभंगा एयरपोर्ट
मुजफ्फरपुर एयरपोर्ट

बिहार के बारे मे कुछ रोचक तथ्य की जानकारी

Bihar के सबसे बड़ी रोचक बात यह है कि यह दूसरे राज्यों के क्षेत्रफल के हिसाब से काफी जनसंख्या वाला राज्य है क्योंकि यहां क्षेत्रफल कम और जनसंख्या ज्यादा है।

बिहार के लोगों की सबसे बड़ी रोचक बात यह है कि यहां के लोग भारत के हर क्षेत्र में देखने को मिलता है बिहार के लोग भारत के हर शहर से लेकर हर गांव में देखा जाता है।

बिहार की सबसे बड़ी पर्व छठ पूजा को माना जाता है जो यहां की सबसे बड़ी त्योहारों में से एक है और हम यह कहें की दिवाली से बड़ी है तो बिल्कुल दिवाली से भी ज्यादा धूमधाम से छठ पूजा को यहां मनाया जाता है और इस पर्व की यह खासियत है कि दूसरे राज्य में बिहार के लोग इकट्ठा हो जाते हैं तो भी छठ पूजा पर्व को दूसरे राज्य में भी उसी धूमधाम से मनाया जाता है।

बिहार की और रोचक बातें करें तो अभी वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी हैं जो लगातार 2015 से सेवा दे रहे हैं।

पूरे भारत में प्रति व्यक्ति सरकारी नौकरी की दर का हिसाब लगाएं तो इसमें बिहार सबसे आगे आता है क्योंकि यहां सबसे ज्यादा सरकारी नौकरी वाले रोग रहते हैं।

बिहार के लोगों की फिल्म इंडस्ट्री की बात करें तो यहां से भारत के बड़े-बड़े फिल्मी सितारे भी देखने को मिलते हैं जिसमें से शत्रुघ्न सिन्हा, सोनाक्षी सिन्हा, सुशांत सिंह राजपूत इनके अलावा और भी बहुत सारे फिल्मी सितारे यहां से देखने को मिलता है।

बिहार की खानपान की बात करें तो यहां का लिट्टी चोखा पूरे भारत में प्रचलित भोजन में से एक है।

Prachin Bihar ka itihas में देखें तो यहां से बड़े-बड़े स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का नाम भी बिहार से आता है।

बिहार की सबसे बड़ी रोचक बात यह है कि यहां स्थित नालंदा विश्वविद्यालय भारत का सबसे पुराना विश्वविद्यालय में से एक है जहां आपको भारत के प्राचीन इतिहास का दस्तावेज आपको देखने को मिल जाएगा वैसे कई सारे दस्तावेजों को अंग्रेजों ने जला भी दिया है और आज के समय में यह सबसे पुराना विश्वविद्यालय है जो विश्व भर में प्रसिद्ध है जो एक पर्यटन स्थल के रूप में भी जाना जाता है ।

Conclusion– उम्मीद करता हूं कि आपको समझ में आ गया होगा बिहार का इतिहास क्या है (Bihar History In Hindi) और उससे जुड़े हुए सभी प्रकार के महत्वपूर्ण जानकारी अगर इसके बाद भी आपके मन में कोई सवाल है तो मेरे कमेंट बॉक्स में आकर पूछे मैं आपके सवालों का जवाब अवश्य दूंगा तब तक के लिए धन्यवाद और मिलते हैं अगले आर्टिकल में ।

FAQ

Q. बिहार राज्य का पूर्व नाम क्या था?

Ans. बिहार का नाम पहले “मगध” था।

Q.बिहार का नाम कैसे पड़ा?

Ans. बिहार शब्द पाली भाषा से लिया गया है जिसका सही मतलब विहार है जो आगे चलकर बिहार हो गया।

Q.बिहार में कुल कितने राजा थे?

Ans.२४ राजा

Q. बिहार की सीमा कितने राज्यों से मिलती है?

Ans. इस राज्य की सीमा बहुत से प्रदेशों से मिलती है- उत्तर प्रदेश , बिहार , उत्तराखंड और सिक्किम।

Q.बिहार राज्य की स्थापना कब हुई थी?

Ans. 22 मार्च 1912 को बिहार की स्थापना हुई।

Q. बिहार राज्य कैसे बना?

Ans. 22 march 1912 में पश्चिम बंगाल के विभाजन के फलस्वरूप बिहार राज्य बना।

Q. बिहार का प्रथम गवर्नर कौन था ?

Ans. जैयराम दास दौलतरम

Other Post

सिक्किम की जानकारी [इतिहास, खानपान, वेशभूषा] | Sikkim History Hindi Details Itihaas

तेलंगाना का इतिहास संस्कृति, हिस्ट्री | Telangana History Hindi Brief Itihas

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here